Mr.Ramayan Pandey "Alone"
(National General Secretary )

Message

I went to seek God, I sought him in the Forests, mountains, but could not find them, I found them only among the elderly citizens of my country. That is my God, I also worship them. I think of him, I try to do something for his benefit.

Sant-Mahatma’s of our country has considered parents as the face of God. The presiding deity is also proof of this and Shravan Kumar and Lord Rama are the source of our inspiration. At the feet of the parents, there is an abode of all the dham and all the land, Lord Ganesha himself has proved this. With his instructions and blessings his sons and daughters progress in their lives and enjoy family happiness and they also get praise. On the contrary, those who do not serve their parents deserve condemnation. If we despise our elderly people, the future generations learn that they also despise us. It is clear that if the son tortures his parents, then his son will also treat him the same way.

The problems and problems of old and old people in the country have increased due to the disengagement of their duties and the governmental apathy by the younger generation, in an age in which they need to be relaxed and relaxed, there they should respect the youth and government for their dignity and their rights. One has to depend on will, while this is his fundamental right.

Therefore, the young generation should respect and serve their parents so that the future generations should also treat them the same as they are old.

Our main objective is to uphold the dignity of crores of elders in the last phase of his life, to ensure cordial treatment and environment with them in social and practical life and to guide the young generation to take care of the elderly.

(संदेश)

ईश्वर को ढूढ़ने मैं चला था, मैंने उसे जंगलो, पहाड़ो में ढूढा, लेकिन उन्हें नही पा सका, मैं उन्हें पाया तो सिर्फ अपने देश के बुजुर्ग नागरिको में।वही मेरे भगवान है, पूजा भी मैं उन्ही की करता हूँ। उन्ही के बारे में सोचता हूं, उनके भले के लिए कुछ करने की कोशिश करता हूँ।
हमारे देश के सन्त-महात्मायो ने माता-पिता को साक्षात् ईश्वर का रूप माना है। इष्टदेव भी इसका प्रमाण है और श्रवण कुमार एवं भगवान राम हमारे प्रेणा के स्रोत है। माता-पिता के चरणों में ही चारो धाम एवं समस्त भूलोक का वास होता है भगवान गणेश ने स्वंय ही इसको प्रमाणित किया है। उन्ही के निर्देश और आशीर्वाद से उनके पुत्र और पुत्रिया अपने जीवन में प्रगति करते है हुए परिवारिक सुख भोगते है तथा उन्हें प्रसंसा भी मिलती है। इसके विपरीत जो अपने माता-पिता की सेवा नही करते है वे निंदा के पात्र होते है।यदि हम अपने बूजुर्गों का तिरस्कार करते है तो आने वाली पीढियां यही सीखती है कि वह भी हमारा तिरस्कार करें। स्पष्ट है पुत्र अपनी माता-पिता को प्रताड़ित करता है तो उसका पुत्र भी उसके साथ वैसा ही व्यवहार करेगा।
युवा पीढ़ी द्वारा अपने कर्तव्यों से विमुख होने एवं सरकारी उदाशीनता के कारण देश में बूढ़े- बुजुर्गो की समस्याएं एवं परेशानिया बढ़ गईं हैं, जिस उम्र में उन्हें सुकून व आराम की जरूरत है वहां उन्हें अपने मान सम्मान एवं अपने अधिकारों के लिए युवाओ तथा सरकार की मर्जी पर निर्भर रहना पड़ रहा है जबकि यह उनका मूल अधिकार है।
अतः युवापीढ़ी को अपने माता-पिता का सम्मान, सेवा-सुश्रुसा करनी चाहिये ताकि भावी पीढ़ी भी उनके साथ उनके बुजुर्ग होने पर वैसा ही व्यवहार करें।
देश के करोड़ो बुजुर्गों का जीवन के अंतिम पड़ाव में उनके मान-सम्मान को कायम रखना, सामाजिक एवं व्यवहारिक जीवन में उनके साथ सौहार्दपूर्ण व्यवहार तथा वातावरण सुनिश्चित करना तथा बुजुर्गों का ख्याल रखने के लिए युवापीढ़ी को मार्गदर्शित करना हमारा मुख्य उद्देश्य है।

Our Mission

  • Restoring the concession (exemption) of 40% of male senior citizens and 50% of women in rail fare who are temporarily closed by the government due to Corona virus.
  • Re-starting the increase in dearness allowance of pensioners who was stop due to Corona virus.
  • Ensuring the defense of the senior citizens of the country at the last stage of their life their right and honor.
  • To inspire and encourage the young generation to honor and respect their parents and elders to serve and take care of them.
  • To make senior citizens aware of their rights, facilities available to them laws made for them in the Constitution.
  • Try to keep them healthy and happy.
  • To ensure amicable behavior and environment with them in social and practical life.
  • To help their loved ones in case of persecution.
  • To provide legal assistance to them through Senior Citizen Cell.
  • To keep the concession they are getting in government facilities.
  • Provide them concessions as much as possible in private sector facilities.
  • To provide a family environment to the elderly living alone or in an old age home.
  • To cooperate as much as possible in national interest and social welfare.
  • To provide support in environmental protection.
  • To check their health through allopathic, ayurvedic and homeopathy camps from time to time and try to keep them healthy.
  • Under the Bharat Darshan program, to organize a mass tour of the historical and religious places of the country to feel love, harmony and brotherhood among the elderly.
  • To support the Prime Minister and Chief Minister Relief Disaster Fund at the time of national disaster.
  • To solve the problems of the preferred citizens through the state legal authority.
  • To give 50% concession to the preferred citizens in the expenses of private Doctors and hospitals.
  • Senior citizens get concessions in private aircraft, metro, government and private buses as well as possible.
  • Senior citizens of the country who are not getting pension, also get pension under “Elder Pension Scheme”.
  • To set up Senior Citizen Cell in all police stations of the country.
  • Full cancellation of the recommendation by the High Level Railway Restructuring Committee and CAG to abolish the concession to senior citizens in railway fares.
  • Ensure strict compliance of Senior Citizens Maintenance Act 2007 in all states.
  • To increase the concession in railway fares to male senior citizens from 40% to 50%.
  • Taking 50% concession in the fare of a colleague and associate fare with senior citizens during the rail journey.
  • To implement the concession of senior citizens in railway fares on passenger trains also.
  • To arrange separate bogies for senior citizens in metro and railways.
  • To set up a “Senior Citizens Commission” at the state, district and subdivision level in all states for the supervision of senior citizens.
  • To arrange special insurance and health insurance plan for senior citizens.
  • To ensure respectful, cooperative and sound treatment of senior citizens in government and private offices and to settle their problems, applications and requests on priority basis.
  • To get minimum amount of old pension at least two thousand rupees per month.
  • To build adequate old age homes in the country.

(हमारा उद्देश्य)

• कोरोना वायरस के कारण अस्थाई तौर पर सरकार द्वारा बन्द की गई रेलवे किराया में मिलने वाले 40% पुरुष वरिष्ठ नागरिक तथा 50% महिलायों का रियायत (छूट) को पूर्व की भांति पुनः बहाल करवाना।
• कोरोना वायरस के कारण पेंशनरों की बन्द की गई महगाई भत्ता वृद्धि को पुनः चालु करवाना।
• देश के वरिष्ठ नागरिकों का जीवन के अंतिम पड़ाव में उनके हक एवं मान-सम्मान की रक्षा शुनिश्चित कराना।
• अपने माता-पिता व बुजुर्गों को मान-सम्मान देने उनकी सेवा करने व उनका ख्याल रखने के लिए युवापीढ़ी को प्रेरित तथा प्रोत्साहित करना।
• वरिष्ठ  नागरिको को उनके अधिकारों,उन्हें मिलेवाली सुविधायों,सविंधान में उनके लिए बने कानूनों के बारे में उन्हें जागृत करना।
• उन्हें स्वस्थ एवं खुशहाल रखने का प्रयास करना।
• समाजिक एवं व्यवहारिक जीवन में उनके साथ शौहार्दपूर्ण व्यवहार तथा वातावरण शुनिश्चित कराना।
• अपनों के द्वारा सताये जाने की स्थिति में उन्हें सहायता प्रदान कराना।
• सीनियर सिटीजन सेल के माध्यम से उन्हें क़ानूनी सहायता उपलब्ध कराना।
• सरकारी सुविधाओ में उन्हें मिल रहे रियायत को वरकरार रखवाना।
• निजी क्षेत्रों के सुविधाओ में भी उन्हें यथासम्भव रियायत प्रदान करवाना।
• जो बुजूर्ग अकेले या वृद्धाश्रम में रह रहे है उन्हें परिवारिक वातावरण उपलब्ध कराना।
• राष्ट्रहित एवं समाजहित में यथासम्भव सहयोग करना।
• पर्यावरण सरंक्षण में सहयोग प्रदान करना।
• समय-समय पर एलोपैथिक,आयुर्वेदिक एवं होमियोपैथी शिविरों के माघ्यम से उनके स्वास्थ्य की जाँच करा उन्हें स्वस्थ रखने का प्रयास करना।
• भारत दर्शन कार्यक्रम के तहत बुजुर्गों में प्रेम,शौहार्द एवं भाईचारा का अहसास हेतु देश के ऐतिहासिक एवं धार्मिक स्थलों का सामूहिक यात्रा का आयोजन कराना।
• राष्ट्रीय आपदा के समय प्रधानमंत्री एवं मुख्यमंत्री राहत आपदा कोष में सहयोग देना।
• राज्य विधिज्ञ प्राधिकार के माध्यम से वरीय नागरिको के समस्यायों का समाधान कराना।
• निजी चिकित्सको एवं अस्पतालों के खर्चो में भी वरीय नागरिको को 50% रियायत दिलाना।
• वरिष्ठ नागरिकों को निजी विमान कम्पनियो,मैट्रो,सरकारी तथा निजी बसों के कियाए में भी यथासम्भव रियायत दिलवाना।
• देश  के वैसे  वरिष्ठ नागरिकों जिन्हें पेंशन नही मिल रहा है उन्हें भी “बृद्धजन पेंशन योजना” के  तहत पेंशन दिलवाना।
• देश के सभी पुलिश थानों में सीनियर सिटीजन सेल का गठन करवाना।
• हाई लेवल रेलवे रिस्ट्रक्चरिंग कमिटी तथा कैग द्वारा रेलवे किराये में वरिष्ठ नागरिकों को मिल रहे रियायत को समाप्त करने की सिफारिश को पूर्ण रूप से रदद् करवाना।
• वरिष्ठ नागरिक भरण-पोषण अधिनियम 2007 को सभी राज्यों में कड़ाई से अनुपालन शुनिश्चित करवाना।
• वरिष्ठ पुरुष नागरिकों को रेलवे किराये में मिल रहे रियायत को 40% से बढ़ाकर 50% करवाना।
• रेल यात्रा के दौरान वरिष्ठ नागरिकों के साथ एक सहयोगी लेकर चलने व सहयोगी के किराए में भी 50% रियायत दिलवाना।
• रेलवे के किराये में वरिष्ठ नागरिकों को मिल रहे रियायत को पैसेंजर ट्रेनों में भी लागू करवाना।
• वरिष्ठ नागरिकों के लिए मेट्रो एवं रेलवे में अलग से बोगी की व्यवस्था करवाना।
• वरिष्ठ नागरिकों की देखरेख के लिए सभी राज्यों में राज्य,जिला व अनुमंडल स्तर पर ” वरिष्ठ नागरिक आयोग” का गठन करवाना।
• वरिष्ठ नागरिकों के लिए विशेष विमा व हेल्थ इन्सुरेंस प्लान की व्यवस्था करवाना।
• सरकारी एवं निजी कार्यालयों में वरिष्ठ नागरिकों के साथ सम्मानजनक,सहयोगपूर्ण तथा सुनाहभूतिपूर्वक व्यवहार शुनिश्चित कराना एवं उनके समस्यायों,आवेदनों,निवेदनों को प्राथमिकता के आधार पर निपटारा करवाना।
• वृद्धा पेन्शन की न्यूनतम राशी कम से कम दो हजार रुपया प्रति माह करवाना।
• देश में पर्याप्त वृद्धाश्रम का निर्माण करवाना।

Important work being done by National Senior Citizens Association...

  •  Fifty percent concession in the examination and treatment expenses of senior citizens to private doctors – it has been started by Patna’s famous doctors cum association’s chief patron Dr. C.P. Thakur and on the request of the union including Patna, Dehri, Sasaram by giving written consent by doctors of other cities of the state, senior citizens are being given a concession of fifty percent in the cost of screening and treatment. It continued throughout the attempt of the Association for enforcement in India.
  •  Formation of Senior Citizen Cell in Police Stations It has been started by Mr. Ashok Mittal, S.P, Gajiawad (Delhi) and Mr. Vikash Vaibhav, S.P, Rohtas (Bihar) under which two police officers and nine senior citizens representative in the police stations A “Senior Citizen Cell” is formed by incorporating. This cell helps in resolving the related problems of senior citizens within the police station area. It continued throughout the attempt of the Association for enforcement in India.
  •  Senior Citizens Maintenance Act-2007 – In collaboration with the then Union Social Justice and Empowerment Minister Smt. Meera Kumar this law has been implemented. Efforts are being made to make it work strictly in all the states and in the senior citizens. Information is being given after publicity.
  •  Cancellation of recommendation to end concession to senior citizens in railway fares – In 2015 the “High Label Railway Restructuring Committee” constituted by the then Central Government to assess the losses incurred in railways to reduce the losses of senior citizens Was recommended to end the concession in railway fares, which was organized in the whole of India to stop the cancellation of the government, Correspondence was held several times and the recommendation was postponed on 24 March 2016 under the banner of the Association with a huge demonstration front of the Prime Minister with the elders of the country.
  •  Getting APL elders in Bihar also included in Chief Minister Older Pension Scheme – This scheme was earlier applicable only to BPL elders in Bihar. The movement has been going on since 2009 to include APL elders in the state. As a result in 2019 the pension of all senior citizens of the state to be given pension by the Government of Bihar, ending the obligation of APL-BPL in this scheme. Now pension is giving to all senior citizens.
  •  To launch Mukhyamantri Senior Citizen Pilgrimage Scheme – The Chief Minister Senior Citizens Pilgrimage Scheme has been launched by the Delhi Government with the efforts of the Association. Under this scheme there is a provision to make pilgrimage of seventy seven thousand elderly people every year at government expense. Efforts are being made to introduce this scheme in all the states as well.
  •  Contribution to Relief Disaster Fund – The amount of assistance is being contributed from time to time in Prime Minister and Chief Minister Relief Disaster Fund.
  •  Organizing group trips – For the purpose of warm-heartedness and belonging among senior citizens a mass travel is organized from time to time and historical and religious places.
  •  Legal assistance to be provided through Legal Services Authority – Through the State and District Legal Services Authority cooperation is being provided in providing legal assistance to senior citizens.
  •  To honor and motivate the youth who respect their elders – By Association the program from time to time, honoring their parents and the elders who serve and honor the elders with the “Shravan Putar Samman”, respecting the elders of the young generation being motivated to do.
  •  Respect for Senior Citizens – Every year on the occasion of International Old Day and other programs of the Association, the elderly who are more than 80 years of age are honored with organ wear.

नेशनल सीनियर सिटीजन एसोसिएशन द्वारा किये जा रहे महत्वपूर्ण कार्य

  • वरिष्ठ नागरिकों को निजी डॉक्टरों के यहाँ जाँच एवं इलाज खर्चे में पचास प्रतिशत की रियायत इसकी शुरुआत पटना के प्रसिद्ध चिकित्सक सह संघ के मुख्य सरंक्षक श्री सी.पी.ठाकुर द्वारा की गई है तथा संघ के आग्रह पर पटना,डेहरी,सासाराम सहित राज्य के अन्य शहरों के डॉक्टरों द्वारा अपनी लिखित सहमति प्रदान कर वरिष्ठ नागरिकों को जाँच एवं इलाज खर्चे में पचास प्रतिशत की रियायत दी जा रही है।इसे पुरे भारत में लागू कराने का प्रयास जारी है।
  • पुलिस थानों में सीनियर सिटीजन सेल का गठन इसकी शुरुआत गजियावाद (दिल्ली) के एसपी.श्री अशोक मित्तल एवं रोहतास (बिहार)के एसपी श्री विकाश वैभव द्वारा की गई है जिसके तहत थानों में दो पुलिस अधिकारी एवं नव वरिष्ठ नागरिकों के प्रतिनिधी को शामिल कर सीनियर सिटीजन सेलका गठन होता है।यह सेल थाना क्षेत्र के अंतर्गत वरिष्ठ नागरिकों के सम्बन्धित समस्यायों का निपटारा कराने में सहयोग करती है।इसे भी पुरे भारत में लागू कराने हेतु संघ का प्रयास जारी है।
  • वरिष्ठ नागरिक भरणपोषण अधिनियम-2007 – तत्कालिक केंद्रीय सामाजिक न्याय एव अधिकारिता मंत्री श्रीमती मीरा कुमार के सहयोग से इस कानून को लागु करवाया गया।सभी राज्यो में इसे कड़ाई से कार्यरत कराने का प्रयास किया जा रहा है।तथा वरिष्ठ नागरिकों में इसका प्रचारप्रसार कर जानकारी दी जा रही है।
  • रेलवे के किराये में वरिष्ठ नागरिकों को मिल रहे रियायत को समाप्त करने की सिफारिश रदद् करवाना 2015 में तत्कालिक केंद्र सरकार द्वारा रेलवे में हो रहे घाटे के आंकलन के लिए गठित हाई लेबल रिस्ट्रक्चरिंग कमिटीने रेलवे घाटा कम करने के लिए वरिष्ठ नागरिकों को रेल किराये में मिल रहे रियायत को समाप्त करने की सिफारिश कर दिया था जिसे रदद् कराने के लिए पूरे भारत में आंदोलन चलाया गया,सरकार के साथ अनेको बार पत्राचार किया गया तथा 24 मार्च 2016 को संघ के बैनर तले देश के बुजुर्गो के साथ प्रधानमंत्री के समक्ष विशाल प्रदर्शन कर इस सिफ़ारिश को स्थगित करवाया गया।
  • बिहार में एपीएल बुजुर्गों को भी मुख्यमंत्री बृद्धजन पेंशन योजना में शामिल करवाना यह योजना बिहार में पहले सिर्फ बीपीएल बुजुर्गों के लिए लागू थी।इस योजना में राज्य के एपीएल बुजुर्गो को भी शामिल कराने के लिए 2009 से ही संघ द्वारा आंदोलन किया जा रहा था परिणामस्वरूप 2019 में बिहार सरकार द्वारा इस योजना में एपीएलबीपीएल की बाध्यता समाप्त कर राज्य के सभी वरिष्ठ नागरिकों को पेंशन दिया जा रहा है।
  • मुख्यमंत्री वरिष्ठ नागरिक तीर्थ योजना की शुरुवात करवानासंघ के प्रयास से दिल्ली सरकार द्वारा मुख्यमंत्री वरिष्ठ नागरिक तीर्थ योजना की शुरुवात की गई है।इस योजना के तहत हर साल सतहत्तर हजार बुजुर्गों को सरकारी खर्चे पर तीर्थयात्रा कराने का प्रावधान है।देश के अन्य सभी राजयों में भी इस योजना की शुरुवात कराने का प्रयास किया जा रहा है।
  • राहत आपदा कोष में योगदान समयसमय पर प्रधानमंत्री एवं मुख्यमंत्री राहत आपदा कोष में सहायता राशी का योगदान दिया जा रहा है।
  • सामूहिक यात्रायों का आयोजन वरिष्ठ नागरिकों में शौहार्द एवं अपनापन के उद्देश्य से समयसमय पर सामूहिक यात्रा का आयोजन कर ऐतिहासिक एवं धार्मिक स्थलों का भर्मण कराया जाता है।
  • विधिक सेवा प्राधिकार के माध्यम से क़ानूनी सहायता दिलवाना राज्य एवं जिला विधिक सेवा प्राधिकार के माध्यम से वरिष्ठ नागरिकों को क़ानूनी सहायता दिलवाने में सहयोग किया जा रहा है।
  • अपने बुजुर्गों का सम्मान करने वाले युवायों को सम्मानित एवं प्रेरित करना समयसमय पर कार्यक्रम का आयोजन कर अपने मातापिता एवं बुजुर्गों का सेवा व सम्मान करने वाले युवायों को श्रवण पुत्र सम्मानसे सम्मानित कर युवापीढ़ी को अपने बुजुर्गो का सम्मान करने के लिए प्रेरित किया जा रहा है।
  • वरिष्ठ नागरिकों का सम्मान हर साल अंतराष्ट्रीय बृद्ध दिवस एवं संघ के अन्य कार्यक्रमो में 80 साल से अधिक उम्र वाले बुजुर्गो को अंग वस्त्र से सम्मानित किया जाता है।
Translate »
× Contact Us on Whats App